करण-अर्जुन की मां हो गए भाजपा नेता…

गुस्ताखी माफ़

उम्र की दहलीज पार कर चुके भाजपा के कई नेताओं की हालत फिल्म करण अर्जुन की मां की तरह हो गई है। आधी रात को भी केवल यही बड़बड़ाते हैं, मेरे करण अर्जुन आएंगे, मेरे अच्छे दिन आएंगे, लालबत्ती तो रही नहीं, निगम मंंडल में जाएंगे। विधानसभा चुनाव के समय इंदौर के कई भाजपा नेताओं को मुख्यमंत्री सहित कई नेता चुनाव जिताने की लालच में फंसते हुए सरकार बनने का इंतजार करने लगे हैं। उन्हें लगने लगा अब बस चार-छह महीने में वे मंत्री पद के बराबर कद पा लेंगे। देखते-देखते तीन बसंत निकल गए, हरियाली आने की कोई संभावना दिखाई नहीं दे रही है। इधर, उम्र भी साथ छोड़ रही है, जवान दिखने के चक्कर में धै बाल काले करा, फिर धै बाल काले करा, बाल उड़ते जा रहे हैं। इधर, कमर भी जवाब दे रही है, ठाकुर का आतंक बढ़ रहा है, वह किसी की नहीं सुन रहा है। दूसरे ठाकुर भी केवल लालीपाप ही देकर वापस चले जाते हैं। ऐसे में अब भाजपा के पद पाने वाले नेताओं का धैर्य टूट रहा है, वे बस यह सोचकर कि एक दिन मेरे करण अर्जुन आएंगे और मेरे अच्छे दिन आएंगे, ठाकुर की भाटगिरी से मुक्ति मिलेगी, मेरे अच्छे दिन आएंगे। भगवान धैर्य बनाए रखे।

इज्जत खराब करवा दी सुधार जाओ…

हमने दिन रात एक कर इस शहर की लाज रखी। पूरे देश में एक नंबर पर आए और तुम हमारी इज्जत मटियामेट कर रहे हो। जो भी आता है पहले तुम्हारे दरवाजे उतरता है। हमसे उसका पाला बाद में पड़ता है। 26वें नंबर पर आकर हमारी इज्जत खराब कर रहे हो। खुद सुधरो और लोगों को भी सुधारो। मक्कारों की फौज खड़ी कर रखी है। कुछ ऐसा वाक्या नगर निगम आयुक्त मनीष सिंह और पश्चिम रेलवे के डीआरएम के बीच हुआ। मनीष सिंह ने डीआरएम की जमकर लू उतारी। कहा- पूरे रेलवे स्टेशन पर सफाई दिखाई नहीं देती है, जो यात्री आता है वह पहले रेलवे स्टेशन उतरता है। कम से कम अपनी नहीं तो हमारी इज्जत का ख्याल करो। मामले की नजाकत देखते हुए अब नगर निगम अधिकारियों और डीआरएम और अन्य अधिकारियों के बीच रेलवे स्टेशन की सफाई व्यवस्था को लेकर नए सिरे से चर्चा प्रारंभ होने जा रही है। अगली बार इंदौर रेलवे स्टेशन को 26वें से पहले पर लाने के लिए नगर निगम भी रेलवे स्टेशन पर भिड़ेगी।
– नवनीत शुक्ल (9826667063)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *