भारतीय घरों में पहुंचेगा अब जापानी चाकू

नई दिल्ली|

कई देशों में किचन उपकरणों में गुणवत्ता हासिल करने के बाद जापानी कंपनी काय ग्रुप ने अपने किचन चाकू के साथ भारतीय बाजार में प्रवेश किया है। सौ से अधिक वर्षों का अनुभव रखने वाली काय कंपनी के प्रेसिडेंट कोजी एंडो ने कहा कि हमें ब्लेडों के उत्पादन की अपनी समृद्ध विरासत और परंपरा पर गर्व है, जो उत्कृष्ट कारीगरी और पांरपरिक लुहारों की उत्कृष्टता से निर्मित है।

उन्होंने कहा कि हमने अपने उत्कृष्ट उत्पादों के साथ उसी जुनून से भारतीय बाजार में प्रवेश किया है, जिसमें पांरपरिक जापानी तकनीकों का प्रयोग किया गया है। लेकिन इनका निर्माण भारत मंे किया गया है।

उक्त स्थान पर स्वयं का विज्ञापन चलाएं…! (CLICK HERE)

काय इंडिया के सीओओ राजेश पांडया ने कहा कि हमने 175 करोड रूपये के निवेश का निर्धारण किया है और हमें विश्वास है कि अगले तीन वर्षाे में हम 100 करोड रूपये का टर्नओवर हासिल कर पाएंगे।

उन्होंने बताया कि पूरे विश्वास में काय के हजारों उत्पाद हैं, लेकिन शुरूआत में केवल तीन उत्पाद के सहारे भारतीय बाजार में प्रवेश किया हैं। किचन चाकू, रेजर और नेल कटर।

उन्होंने बताया कि काय इंडिया हर गांव में अपनी उपस्थिति दर्ज करानी चाहती है। वर्तमान केंद्र सरकार की नीतियां सबके अनुकूल है। भारतीय बाजार उभरता हुआ बाजार है। यहां के लोग गुणवत्ता को परखते हैं।

काय ग्रुप की सबसे बडी पूंजी उसकी गुणवत्ता ही है। इसलिए हमें भारतीय बाजार से बेहतर रिस्पांस मिलने की उम्मीद है। काय के उत्पादों का अनावरण बाॅलीवुड कलाकार बोमन ईरानी ने किया है।

बोमल ईरानी ने कहा कि स्क्रीन पर हमारे चरित्रों की तरह किसी भी व्यक्ति को उनके अनूठे व्यक्तित्व से पहचाना जाता है। जो उन्हं जीवन में एज यानी धार देता है। यह धार कडी मेहनत, प्रतिबद्धता और उनके काम की समृद्ध विरासत के सम्मान के रूप में मिलती है। मुझे विश्वास है कि काय की अनूठी उत्पाद रेंज भारतीय ग्राहकों को आकर्षित करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *