छा गया भारत… गैरमौजूदगी में सबसे अमीर शख्स ने सराहा

बीजिंग|

वांडा ग्रुप के प्रमुख और चीन के सबसे अमीर शख्स वांग जिआनलिन ने बीजिंग में 14 से 15 मई तक आयोजित पहली वन बेल्ट वन रोड (OBOR) शिखर सम्मेलन के मंच से भारत की जमकर तारीफ की है।

साथ ही भारत के लिए अपने ग्रुप की योजनाओं को उजागर किया है। खास बात यह है कि वांडा ग्रुप के अरबपति जिआनलिन ने यह सराहना भारत की गैर मौजूदगी में की है।

चीन की महत्वाकांक्षी OBOR परियोजना के तहत POK से गुजरने वाले चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा के चलते भारत ने इस का बहिष्कार किया था।इस शिखर सम्मेलन में दुनिया के 29 राष्ट्राध्यक्षों समेत 130 देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया था।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी इसमें शिरकत की थी। ऐसे में भारत की गैरहाजिरी में चीन के वांडा ग्रुप के अरबपति जिआनलिन की सराहना काफी अहम मानी जा रही है।

वांग चीन के प्रभावशाली कंगलोमेरेट के प्रमुख और दिग्गज कारोबारी हैं। चीन के सबसे अमीर घराना वांडा ग्रुप का रियल एस्टेट, डिवैलपमैंट प्रोजैक्ट और फिल्म इंडस्ट्री में भारी भरकम निवेश है।

OBOR में अमरीका, जापान और दक्षिण कोरिया तक के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया था, लेकिन भारत ने इसका बहिष्कार किया था। इस पर कुछ चीनी अधिकारियों का कहना था कि समिट में गैरहाजिरी से भारत अलग-थलग पड़ सकता है।

हालांकि भारत का मानना है कि उसको देश के अंदर चीनी पहल को बढ़ावा देने की जरूरत नहीं है। चीनी कंपनियों के भारत में निवेश से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला।

OBOR के तहत पर्यटन परियोजना पर अपने भाषण में वांग ने भारत के लिए वांडा ग्रुप की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं को भी शामिल किया। हालांकि भारत इस शिखर सम्मेलन में उपस्थित नहीं रहा।

वांग ने वांडा ग्रुप की ओर से हरियाणा में इंडस्ट्रियल न्यू सिटी बनाने की योजना का भी जिक्र किया। वहीं, चीन को इस शिखर सम्मेलन में भारत की कमी खली ।

शिखर सम्मेलनट खत्म होने के बाद चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा था कि भारत कभी भी इस परियोजना में शामिल हो सकता है, उसके लिए इसके दरवाजे खुले रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *