चोटीकांड : इंदौर में अब बालिकाएं `टारगेट’..! आज दो मासूमों की कटी चोटी

इंदौर|
दिल्ली, उत्तरप्रदेश, राजस्थान में लगातार चोटी कटने की घटनाओं के बाद अब मध्यप्रदेश में भी चोटी कटने का सिलसिला शुरू हो गया है। इंदौर में भी पिछले कुछ दिनों से `चोटी गैंग’ सक्रिय है और महिलाओं की चोटियां काटने के बाद ऐसा लगता है कि अब उनका निशाना मासूम बालिकाएं हैं! ऐसा ही कुछ रविवार की रात को घटा, जब शहर में दो बालिकाओं के बाल/चोटियां काट ली गईं। यह दोनों घटनाएं तब हुईं, जब बालिकाएं सो रही थीं। वे जब सुबह उठीं, तो उनके बाल बिस्तर पर कटे मिले।

पहली घटना तब हुई जब इंदौर के लोकनायक नगर में 6th क्लास में पढ़ने वाली 12 साल की ज्योति विश्वकर्मा अपने घर पर रोज की तरह दो भाइयों के साथ सो गई थी। रविवार रात को अचानक ऐसा कुछ हुआ कि सुबह जब ज्योति उठी तो उसके पैरों तले जमींन खिसक गई। सोमवार सुबह जब ज्योति उठी तो उसके भाइयो ने बताया कि बिस्तर पर उसके बाल कटे पड़े है वही बालो का कुछ हिस्सा कटा हुआ और कुछ हिस्सा कतरा हुआ है। विश्वकर्मा परिवार जिस घर मे रहता है उसके मकान मालिक विजय राठौर ने मीडिया को बताया कि सुबह ज्योति के परिजन आये और उन्होंने इस बात की जानकारी दी और बताया कि सुबह अचानक उसके बाल कटे मिले। लोकनायक नगर आशा माता वाली गली में हुई इस घटना के बाद लोगो मे दहशत है और महिलाये व युवतियां दहशत के मारे ज्योति व उसके परिजनों से पूछताछ में जुटी हुई है।

वहीं दूसरी अन्य घटना जब हुई तब विजयश्री नगर में रहने वाली सातवीं की छात्रा पायल सोनी रविवार सुबह जागी तो उसकी चोटी कटी हुई थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उसके सिर के बाल बिस्तर पर पड़े थे। वह यह देख घबरा गई। परिजन भी सकते में आ गए। उन्होंने घर और आसपास चोटी काटने वाले को ढूंढा लेकिन कोई दिखाई नहीं दिया। इस घटना की जानकारी मोहल्ले में फैली तो पायल के घर लोगों की भीड़ लग गई। वे भी हैरान थे। अंधविश्वास में लोगों ने चोटी काटने वाले से बचने के लिए घरों में टोने-टोटके भी शुरू कर दिए। किसी ने दरवाजे पर नीबू-मिर्च बांधी तो किसी ने दीवारों पर हाथ के पंजे बनाए। इससे पहले द्वारकापुरी, झलारिया और आजाद नगर में ऐसी घटना हो चुकी है। हातोद और देपालपुर में भी वारदात हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *