इंदौर से पीथमपुर तक इकनॉमिक जोन

इंदौर|

देवास और उज्जैन जिले में 2 नवीन औद्योगिक क्षेत्र विकसित किये जा रहे है। इन औद्योगिक क्षेत्रों में भू-खण्ड आवंटन ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से किया जा रहा है। साथ ही इंदौर एयरपोर्ट से पीथमपुर इकनॉमिक कॉरीडोर भी विकसित किया जा रहा है।

वाणिज्य एवं उद्योग विभाग द्वारा नवीन औद्योगिक क्षेत्र में बुनियादी सुविधाओं के कार्य तेजी से करवाये जा रहे है। देवास जिले में ग्राम सिरसौदा में नवीन औद्योगिक क्षेत्र का विकास 49.86 हेक्टेयर भूमि पर किया जा रहा है।

यह क्षेत्र भोपाल-देवास फोरलेन सड़क पर सोनकच्छ से 6 किलोमीटर की दूरी पर विकसित किया जा रहा है। इस क्षेत्र में सड़क, बिजली एवं जल-प्रदाय संबंधी विकास कार्य 12 करोड़ की लागत से किये जा रहे हैं।

क्षेत्र में 33/11 के.व्ही. विद्युत फीडर का निर्माण पूरा तथा जल-प्रदाय टंकियाँ तैयार की जा चुकी है। आंतरिक एवं बाहरी सड़कों का निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है। क्षेत्र में 25 औद्योगिक इकाइयों के लिये 7.79 हेक्टेयर भूमि पर भू-खण्ड उपलब्ध है।

उज्जैन जिले के ताजपुर में नवीन औद्योगिक क्षेत्र 74.84 हेक्टेयर भूमि पर किया जा रहा है। यह क्षेत्र उज्जैन मक्सी टू लेन सड़क पर तहसील ताजपुर से 4 किलोमीटर की दूरी पर है।

औद्योगिक क्षेत्र में सड़क, बिजली और जल-प्रदाय व्यवस्था संबंधी विकास कार्य 40 करोड़ रुपये की लागत से करवाये जा रहे हैं। क्षेत्र में 178 औद्योगिक भू-खण्ड करीब 27 हेक्टेयर भूमि पर उपलब्ध है। औद्योगिक इकाइयों के लिये भूमि आवंटन ऑनलाइन किया जा रहा है।

इंदौर एयरपोर्ट से पीथमपुर एस.ई. जेड.(स्पेशल इकनॉमिक जोन) तक 20 किलोमीटर लम्बाई में 18 गाँव में से इकनॉमिक कॉरीडोर प्लानिंग किया गया है। यहाँ 75 मीटर चौड़े मार्ग के दोनों ओर 300 मीटर क्षेत्र की भूमि को योजना में शामिल किया गया है।

इसमें आई.टी., टूरिज्म, रिक्रेशिएनल व्यवसायिक, औद्योगिक (नॉन पाल्यूटिंग) गतिविधियाँ संचालित की जायेगी। एयरपोर्ट से पीथमपुर इकनॉमिक कॉरीडोर का विकास इंदौर विकास प्राधिकरण के माध्यम से किया जा रहा। कॉरीडोर बनने पर यहॉ औद्योगिक गतिविधियों में और तेजी आयेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *